यहाँ सिर्फ एक लड़की को लेने और छोड़ने इतनी दूर आती है ट्रेन

एजुकेशन पर हमारे देश में नयी नयी योजनाएं बनती है दूर दूर गावों में भी एजुकेशन सिस्टम सही करने के लिए काम होते है लाखों रूपये खर्च किये जा रहे है लेकिन फिर भी ऐसे भी बच्चे है जिनके पास स्कूल आने जानने का साधन नहीं है और उनका स्कूल भी बड़ी दूर है ऐसे में कई बच्चे नदियां पार कर तो कई पहाड़ चढ़ कर स्कूल अपनी पढाई करने जाते है।  स्कूल तक पहुंचना ही उनके लिए एक बहुत बड़ा टास्क होता है इस वजह से कई बार देरी हो जाती है। जाहिर है की अभी भी हमारी सरकार एजुकेशन मामले में ज्यादा सीरियस नहीं है।

लेकिन हर देश  में ऐसा नहीं है जापान एजुकेशन को बहुत तवज्जो देता है और हाल ही में इसका बेहतरीन उदहारण भी सामने आया है जापान के एक गाँव के रेलवे स्टेशन को हाल ही में बंद करने का फैसला ले लिया गया था क्योंकि वहां की पापुलेशन बहुत कम है और कोई भी वहां से यात्रा नहीं करता था।  लेकिन उसी गाँव से एक लड़की रोज ट्रेन के द्वारा ही स्कूल जाती थी और वहां से स्कूल जाने का कोई दूसरा तरीका उसके पास नहीं था अगर ट्रेन बंद हो जाती तो उसका स्कूल भी छूट जाता। यह बात जैसे ही रेलवे विभाग को लगी और सरकार तक पहुंची तो बिना देर दिए सरकार ने पुनः उस रेल को चलाने का फैसला ले डाला
आपको जानकार हैरानी होगी की ट्रेन सिर्फ इस लड़की के लिए ही इस स्टेशन पर आती है और रेल का टाइम भी उसके स्कूल टाइम के हिसाब से ही सेट है और तो और जब लड़की के स्कूल की छुट्टी का चार्ट भी रेलवे के पास आ जाता है और छुट्टी वाले दिन वह ट्रेन भी नहीं चलती है।

देखिये जापान की सरकार को एक एक नागरिक की भी कितनी परवाह है और वे उन्हें कितनी इम्पोर्टेंस देती है।  ये ट्रेन तब तक चलने के आदेश है जब तक वह छात्रा ग्रेजुएट नहीं हो जाती।
इस फैसले के बाद हर जगह से जापान सरकार की तारीफें हो रही है और फैसले की सराहना हो रही है।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.