शिव के इस मंत्र से मुर्दा भी हो जाता है ज़िंदा, हर इच्छा होती है पूरी

शास्त्रों में,पुराणों में और हिन्दू धर्म में भी गायत्री मंत्र और मृत्युंजय मंत्र का बहुत ही महत्त्व है। इन दोनों ही मंत्रो को बहुत बड़े मन्त्र माना जाता है जो आपको सभी संकटों से मुक्त कर सकात्मकता से भर देते है।

लेकिन भारतीय शास्त्रों में ऐसे मन्त्र का उल्लेख भी है जो इन दोनों ही मन्त्रों से शक्तिशाली है क्योंकि यह मंत्र गायत्री और मृत्युंजय मंत्र दोनों से मिलकर बना है।  कहते है की इस मंत्र से मृत व्यक्ति को भी जीवित किया जा सकता है अर्थात इस मंत्र के सही जाप से बड़े से बड़े रोग और संकट से मुक्ति पाई जा सकती है।

इस मंत्र का नाम है मृत संजीवनी मंत्र-

ॐ हौं जूं सः ॐ भूर्भुवः स्वः ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्द्धनम्‌। उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्‌ ॐ स्वः भुवः ॐ सः जूं हौं ॐ !!!

कैसे करें पूजा – शुक्ल पक्ष के किसी भी सोमवार की सुबह भगवान् शिव की पूजा करें और इस मंत्र का 108 बार जप करें, निरंतर सच्चे मन से ऐसा करने से बड़े से बड़े संकट से मुक्ति पाई जा सकती है।

इसके अलावा भी भगवान् भोलेनाथ के कई ऐसे मंत्र है जो आपकी इच्छाओं को पूरी कर सकते है, इनमें उनका सबसे शक्तिशाली मंत्र “महामृत्युंजय मंत्र” सबसे ऊपर है
यह मंत्र इस प्रकार है –ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्द्धनम्‌। उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्‌ !!

Leave A Reply

Your email address will not be published.