जूते-चप्पल का यह उपाय दूर कर देता है पनौती

3772
shani dosh

जूते- चप्पल का दान करने से आपकी परेशानियों भरे जीवन में राहत मिलती है। यह पनौती को दूर करता है। इसका सीधा सम्बन्ध शनि और उसकी साढ़े साती से है।

क्या आप जानते है, जिस व्यक्ति की जन्मकुंडली में शनि अशुभ होता है या जिस राशि पर शनि की साढ़ेसाती चल रही होती है। उस समय तक उन सभी जातकों का जीवन संघर्ष से भरा होता है।

ऐसे में शनि दोष से प्रभावित लोग जब किसी ज्योतिष के जाकर अपनी कुंडली दिखाते है तो उन्हें शनि दोष दूर करने के लिए उपाय बताये जाते है, इसी में शनि के बुरे प्रभाव को दूर करने का एक प्रभावी है जूते चप्पल का दान।

इसका कारण यह है की ऐसी मान्यता है की जिन लोगों पर शनि की महादशा होती है या जिनका शनि अशुभ होता है उन सभी लोगों को पैरों से संबंधित परेशानियां झेलनी पड़ती हैं, क्योंकि व्यक्ति के पैर पर शनि का प्रभाव अधिक होता है।

दरअसल ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सभी राशियों के लिए शरीर में कोई न कोई स्थान निर्धारित है। शनि की राशियों का स्थान पैरों में होता है इसी कारण शनि की साढ़ेसाती के आखिरी वर्षों में शनि का प्रभाव व्यक्ति के पैरों पर अधिक होता है। इसलिए अशुभ शनि या शनि दोष को कम करने के लिए जूते-चप्पलों को दान करने को कहा जाता है।

यही कारण है की आपके जूते चप्पलों का समय से पहले ही टूटना या फटना भी शनिदोष का ही असर माना जाता है।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here