भाग्य उदय करने वाले है ये छोटे छोटे काम

कहते है भगवान शिव बहुत भोले है और इसीलिए उन्हें भोलेनाथ भी कहा जाता है वे देवों के देव है इसीलिए उन्हें महादेव कहा जाता है वे सर्वशक्तिशाली और संसार के मालिक है प्राचीन काल से ही  इसीलिए जब भी संसार पर कोई विपदा आती थी या किसी को कोई आशीर्वाद चाहिए होता था तो सीधे भगवान शिव हो ही याद किया जाता रहा है क्योंकि वो ही है जो जल्द ही प्रसन्न भी हो जाते है और आपके सारे काम पार लगा देते है।
इसीलिए सुबह उठते ही सबसे पहले भगवान भोलेनाथ का स्मरण अवश्य करें और उनकी कृपा प्राप्त करें
आप हर दिन अगर शिव जी को जल चढ़ा सकते है तो सबसे अच्छा।  रोज शिव जी को जल जरूर चढ़ाएं इससे उनकी कृपा आने में देर नहीं लगेगी।
हमारे सनातन धर्म में एकादशी का बहुत महत्त्व है इसीलिए बड़े बुजुर्ग आज भी एकादशी का व्रत करना नहीं भूलते है क्योंकि एकादशी का दिन धर्म कर्म के हिसाब के बहुत ही शुभ और अच्छा फल देने वाला माना जाता है।
अतः कोई भी अच्छा कामशुरु करना हो तो एकादशी का दिन चुने एवं जब भी एकादशी हो कोशिश करें की उस दिन आप व्रत रख लें मंन से रखा गया व्रत जरूर पुण्य देगा और आपकी किस्मत चमकने लगेगी। इस दिन किये गए पुण्य अवश्य फलदायी होते है किसी गरीब को ख़ुशी दें खाना खिला दें
लेकिन याद रहे इस दिन किसी भी तरह का पाप करने से बचे जैसे मॉस मदिरा गन्दी हरकतें इस दिन विशेषकर ना करें।

सनातम धर्म में गाय का विशेष महत्त्व है और ये पुराणों में भी लिखा गया है की पहली रोटी गाय की।
जिस घर से पहली रोटी गाय की निकलती है उस घर में दुःख नहीं आते है क्योंकि उस घर पर हमेशा देवी देवताओं का आशीर्वाद बना रहता है और कृपा बनी रहती है अतः सुनिश्चित करें की आपके घर में खाना बनने से पहले एक रोटी गाय के लिए निकाल कर रख दी जाये और फिर उसे गाय को खिला दें।
घर पर तुलसी का पौधा जरूर रखें ये सौभाग्य लाता है क्योंकि इन्हे भगवन विष्णु का ही रूप माना गया है और भगवान विष्णु की कृपा से तो सुख सम्पदा और धन धान्य ऐश वैभव बढ़ता ही जाता है।
घर में बड़े बुजुर्ग है तो आप सौभाग्य वाले है घर से निकलते हुए या किसी जरुरी काम करने जाने से पहले बुजुर्गों का आशीर्वाद जरूर लें निश्चित ही आपके सारे काम बनेंगे।

ये छोटे छूटे करिये आपकी किस्मत बदल जाएगी और भाग्य उदय हो जाएगा। 

You might also like

Leave A Reply