शारदीय नवरात्रि घट स्थापना का समय और पूजा मुहूर्त। Shardiya Navratri Ghat Sthapana Time and Pooja Muhurat

नवरात्रि 2017

शारदीय नवरात्र: इस बार नवरात्रे 21 सितम्बर से 30 सितम्बर तक होंगे। जानिए नवरात्रि स्थापना (Navratri Sthapana) या घट स्थापना (Ghat Sthapana) का समय और क्या है पूजा का मुहूर्त।

Navratri Ghat Sthapana Time and Pooja Muhurat :

जो भक्त घरों में नवरात्रि पर घट स्थापना करते है या कलश स्थापित करते है उनके लिए:
शुभ मुहूर्त – सुबह 6:30 बजे से सुबह 8:19 बजे तक का है, वहीँ अभिजीत मुहूर्त का समय 11.36 से 12.24 बजे तक रहेगा।

(मुहूर्त के समय में बदलाव संभव है, स्थापना से पहले किसी भरोसेमंद अखबार या पंडित जी से समय पता करना ज्यादा उचित है)

वैसे मान्यता है की नवरात्री का समय सबसे शुभ होता है, ऐसे में अगर आप शुभ मुहूर्त पर स्थापना नहीं कर पाते है तो भी पूरा दिन किसी भी समय कलश को स्थापित कर सकते है, क्योंकि नवरात्रि स्थापना से ही शुभ समय शुरू हो जाता है, इसीलिए नवरात्र के प्रारम्भ होते ही लोग अपने शुभ कार्य करना पसंद करते है।

कलश स्थापना विधि :

कलश स्थापना करने से पहले, जहाँ कलश रखना है उस जगह पर जमीन पर जो रखें, इसके बाद उस जौ पर कलश को स्थापित करना चाहिए। कलश रखने के बाद कलश पर स्वास्तिक बनाएं और मौली बांधें और कलश में जल भरें। कलश में अक्षत, साबुत सुपारी, फूल, पंचरत्न और सिक्का डालें।

अखंड दीप जलाने का भी है विशेष महत्त्व :
नवरात्रि में अखंड दीपक जलाने की भी मान्यता है, ऐसा माना जाता है कि जिस घर में अखंड दीप जलता है उस घर में दुर्गा माँ की विशेष कृपा होती है।

अखंड दीप जलाने के नियम:

अखंड दीप जलाने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना पड़ता है, इस दीप को जलाने वाले भक्त को नवरात्रि में जमीन पर ही बिस्तर बिछाकर सोना पड़ता है। और यह ध्यान रखा जाना चाहिए की किसी भी हाल में दीपक बुझने ना पाए, साथ ही घर में इन दिनों साफ़ सफाई का विशेष ख्याल रखना चाहिए।

You might also like

Leave A Reply