शिक्षाप्रद कहानी : जीवन में आने वाले मौकों को पहचानकर सफलता पाई जा सकती है। 

भगवान् हम सबको ज़िन्दगी में आगे बढ़ने और सफल होने के कई मौके देता है किसी को कम मौके देता है किसी को ज्यादा मौके। लेकिन हर एक की ज़िन्दगी में अपनी ज़िन्दगी बदलने वाले और तरक्की करने वाले मौके आते जरूर है और ये हमपर निर्भर करता है की हम उन मौकों को सही समय पर पहचान कर उनका सही इस्तमाल करते है या व्यर्थ गवा देते है। अगर सही मौके पर अपने हुनर और काबिलियत का उपयोग कर लिया जाये तो हम अपनी लाइफ बदल सकते है। इसे एक कहानी से समझते है –

पुरानी बात है किसी गाँव में बहुत मेहनती और ईमानदार जमींदार रहता था उसनें अपनी मेहनत और लगन से अच्छा खासा कारोबार खड़ा करा और काफी पैसा बना लिया।  जमींदार बहुत ही नेक आदमी था वह अपनी कमाई का कुछ हिस्सा अच्छे कामों में और जरूरतमंदों की मदद करने में भी लगाता था। इस वजह से उसकी साख भी अच्छी थी।

जब जमींदार बूढा होने लगा और उम्र ढलने लगी तो उसको अपनी संपत्ति और कारोबार की चिंता होने लगी, जमींदार के 3 बेटे थे लेकिन उसे चिंता थी की क्या उसके बेटे उसकी संपत्ति का सही इस्तमाल करेंगे या व्यर्थ गवां देंगे।  इसलिए वे समझ नही पा रहे थे की किसे अपनी संपत्ति सौंप कर जाये।  ऐसे में उसने एक फ़कीर से सलाह ली।

फ़कीर का बताया तरीका उसे अच्छा लगा।  उसने अपने तीनों बेटों को बुलाया और तीनों को कुछ बीज दिए और कहा मैं लंबी तीर्थ यात्रा पर जा रहा हूँ तुम तीनों ये बीज संभाल कर रखना।

इसके बाद जमींदार बहुत लंबे अरसे के बाद वापिस लौटा और अपने पहले बेटे के पास जा कर बीजों का हाल जाना – बीजों के बारे में सुनते ही पहला बेटा बोला – कौनसे बीज पिताजी, मैं तो भूल ही गया की आपने मुझे कोई बीज भी दिए थे।  सुनते ही जमींदार को बहुत दुःख हुआ। वह दूसरे बेटे के पास गया – दूसरे बेटे ने तिजोरी की और इशारा करते हुए कहा आपकी अमानत मैंने तिजोरी में संभाल कर रख रखी है ये लो चाबी और निकाल लो।

पिताजी अब तीसरे बेटे के पास गए और बीजों के बारे में पुछा – बेटा पिताजी को एक बगीचे में ले गया और कहा पिताजी मैंने आपके दिए हुए बीजों से ये बगीचा तैयार किया है। पिताजी बहुत खुश हुए और उन्होंने अपनी सारी संपत्ति तीसरे बेटे के नाम कर दी।

जमीदार ने तीनों बेटों को बराबर बीज देकर बराबर का मौका दिया था, लेकिन उस मौके पहचान कर और अपनी काबिलियत से फायदा उठाया तीसरे बेटे ने।  यही बात हमारे जीवन में भी लागु होती है।  ज़िन्दगी में हर कदम पर नजर रखें, और आने वाले मौकों को पहचानने की कोशिश करें।  और हमेशा मौकों के लिए तैयार रहे।

कहते है की भाग्य भी उसी का साथ देता है जो सदैव तैयार रहते है। अगर आप मिलने वाले हर मौके को बखूबी भुनाते है तो आगे से आगे सफलता के रास्ते खुलते जाएंगे।  नए आइडियाज आते जाएंगे। और जो लोग मिले हुए मौकों को ऐसे ही जाने देते हैं और कुछ नहीं करते हैं वो अपनी ज़िंदगी में भी कुछ नहीं कर पाते हैं और वहीँ के वहीँ रह जाते हैं।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.