चीजें जो अमेरिकन आसानी से कर सकते है पर इंडियंस नहीं ..

-आकर्षण का सार्वजनिक प्रदर्शन
अमेरिकन को फर्क नही पड़ता की उन्हें लोग देख रहे है वे अपने पार्टनर के साथ बीच रोड पर भी रोमांस कर सकते है। पर अगर ऐसा इंडिया में हो तो – वो देख वहां क्या चल रहा है, बेशर्मी की हद होती है।

– ऑटोवाला, वेटर, रिक्शावाला, मोची, सभी को धन्यवाद देना
अमेरिकन काम हो जाने के बाद सभी का शुक्रिया अदा करते है चाहे उन्हें ऑटो वाले के कहीं छोड़ा हो या वेटर ने खाना परोसा हो वे थैंक यू कहना नही भूलते ये उनके लिए आसान है क्योंकि उनकी आदत में आ चुका है, इंडियंस के लिए ये काम थोड़ा मुश्किल है हम तो बार्गेनिंग करने में ही बिजी हो जाते है।

– बेसब्र होकर हॉर्न बजाते रहना
अमेरिकन बेवजह रोड पर हॉर्न नही बजाते और रेड लाइट पर तो बिलकुल भी नही।
इंडिया में ग्रीन लाइट होने से पहले ही हॉर्न से सामने वाले का खड़े रहना मुश्किल कर दिया जाता है तो बिना हॉर्न बजाये रहना शायद हमारे लिए थोड़ा मुश्किल है।

– सिंगल रहना
अमेरिकन बिना शादी किये रह सकते है वहां समाज को कोई फर्क नही पड़ता और ना ही अमेरिकन को।  इंडिया में ये थोड़ा मुश्किल काम है  आप नही करेंगे तो रिश्तेदारों का टॉपिक बन जायेंगे – बेटा 28 साल के हो गए अब और कितना लेट करोगे ?

एस्केलेटर शिष्टाचार को फॉलो करना
हम हर वीकेंड मॉल्स में घूमने जाते है पर आप नही जानते की एस्केलेटर इस्तेमाल करने का एक तरीका होता है हमे लाइन बना कर खड़े होना पड़ता है, अमेरिकन इस बात को फॉलो करते है
पर जब बात इंडियंस की आती है तो – तुम रहने दो तुमसे ना हो पाएगा !

– बच्चो से सेक्स के बारे में बात करना
अमेरिकन के विचारों में बच्चों को भी सब पता होता है और ये कोई बड़ी बात नही है वे अपने बच्चों से इस बारे में खुल कर बात करते है।
इंडिया में टीवी पर एडल्ट विज्ञापन आ जाये तो चैनल चेंज कर देते है तो उनके बारे में बात करना आसान नही होगा

ज़ेबरा क्रॉसिंग नियमों का पालन
अमेरिकन रोड क्रॉस करने के लिए ज़ेबरा क्रासिंग का इस्तेमाल करते है।
हमारे कंट्री के सड़क नियमों को फॉलो नही करना गर्व की बात है तो ज़ेबरा क्रासिंग पर चलना? अरे सोचता कौन है ?

– अपने काम से काम रखना
इंडियन के लिए ये काम सबसे मुश्किल होता है, किसी का झगड़ा हो या किसी की टेंशन, किसी की पर्सनल बात हो या कुछ भी हो हमारा इन्वॉल्वमेंट हर चीज़ में जरुरी होता है। अमेरिकन सिर्फ अपने में ही रहते है उन्हें दूसरोँ के काम से कोई मतलब नही होता।

– एम्बुलेन्स, फायरब्रिगेड को रास्ता देना
अमेरिकन साइरन सुनते ही पहले रास्ता क्लियर करते है और हमे ये बात माननी पड़ेगी की इंडिया में एम्बुलेंस ट्रैफिक में फंसी ही रह जाती है।

– महिलाओं को नही घूरना
अमेरिकन आसपास चलती महिलाओं को नही घूरते, ये काम इंडियंस के लिए बड़ा मुश्किल काम है, क्योंकि ज्यादातर इंडियंस की ये आदत बन चुकी है।

– फीमेल फ्रेंड का मेल फ्रेंड से गले लगना
अमेरिकन के लिए कॉमन बात है पर इंडियंस करें तो हमे समझाना पड़ता है की हम सिर्फ अच्छे दोस्त है।

– कचरा डस्टबिन में फैंकना
इंडियंस दूर से फैंकते है, निशाना सही नही लगा तो भी कोई फर्क नही पड़ता, अमेरिकन काफी सभ्य होते है।

– जिससे प्यार करते है उसी से शादी करते है
 कास्ट, कलर, ऐज की फ़िक्र किये बगैर वे जिससे प्यार करते है उससे शादी कर सकते है
इंडिया में घर वालों की परमिशन मिलने के इन्तेजार में लड़की की शादी कहीं और हो जाती है।

स्कूल में बच्चे बड़े बाल रखते है
अमेरिकन को स्कूल में बड़े बाल रखना अलाऊ है और इंडियंस रख ले तो पेरेंट्स को बुलावा चला जाता है।

अपने पैशन को फॉलो करना
चाहे कुछ हो जाये वे जो चाहते है वही करते है और हम स्तिथिओं से कॉम्प्रोमाइज कर रह जाते है

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.