ऐसा शक्तिशाली मंत्र कि सुनने से ही किस्मत बदल जाए

मन्त्रों में बहुत ताकत होती है। मन्त्रों के जप से अथाह शक्ति प्राप्त होती है। प्राचीनकाल में साधू संतों ने कई मन्त्रों के जाप से देवताओं के मन मानें आशीर्वाद प्राप्त किये है। भगवान् विष्णु का भी एक ऐसा ही मन्त्र है जिससे सुनने मात्र से किस्मत बदल जाती है।

शास्त्रों के अनुसार भागवान विष्णु सृष्टि के पालनहार है, उनके ‘विष्णु सहस्रनाम’ के स्त्रोत को सबसे पवित्र स्त्रोतों में से एक माना जाता है। जिसका नियमित पाठ करने से या सुनने से कई इच्छाओं की पूर्ती स्वतः ही हो जाती है ऐसा हिन्दू धर्म में माना जाता है।

लेकिन विष्णु सहस्त्रनाम में श्लोक और मन्त्र संस्कृत भाषा में लिखे होते है जिसको पढ़ने में संस्कृत का कम ज्ञान रखने वालों को काफी कठिनाई आती है। ऐसे में एक श्लोक ऐसा है जो बेहद सरल है और बेहद छोटा भी है यह श्लोक एक तरह से पूरे विष्णु सहस्त्रनाम का सार है। इस छोटे से मन्त्र को पढ़कर भी वैसा ही फल प्राप्त कर सकते हैं जो विष्णु सहस्रनाम के जाप से मिलता है। यह श्लोक है –

नमो स्तवन अनंताय सहस्त्र मूर्तये,
सहस्त्रपादाक्षि शिरोरु बाहवे,
सहस्त्र नाम्ने पुरुषाय शाश्वते,
सहस्त्रकोटि युग धारिणे नम:..

जीवन में आने वाली किसी भी तरह कि परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए रोज सुबह इस मंत्र का जाप करने की सलाह दी जाती है।

कहते है की महाभारत के समय जब बाणों की शय्या पर लेते हुए थे तब युधिष्ठिर ने उनसे पूछा था की ऐसा कौन है जो सर्व व्याप्त है और सर्व शक्तिमान है?” मतलब इस संसार में ऐसा कौन है जो सभी जगह विद्धमान है और सबसे शक्तिशाली है।  तब पितामह ने भगवान् विष्णु जी के 1000 नाम बताये थे।

पितामह ने तब युधिष्ठिर से कहा था कि हर युग में इन नामों को पढ़ने या सुनने से अच्छे फल प्राप्त किये जा सकते है और किस्मत के ताले खोले जा सकते है।  अगर हर दिन सुबह इन एक हजार नामों का जाप किया जाए तो जीवन में आने वाली बाधाओं से पार पाई जा सकती है।  और जीवन की मुश्किलें हल हो सकती है।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.