आत्महत्या करने वाले की आत्मा के साथ क्या होता है?

कहते है की 84 लाख योनियों को भोगने के बाद इंसानी जीवन मिलता है, यह जीवन सभी योनियों में सबसे शानदार होता है। ऐसे में आत्महत्या कर इस ज़िन्दगी को ख़त्म कर लेना शास्त्रों में पाप माना गया है। आत्महत्या करने का मतलब है अपने संघर्षों से हार मान कर अपनी ज़िन्दगी को समाप्त कर लेना। ऐसे इंसानों के प्रति लोगो की सहानुभूति भी होती है तो कुछ इन्हें कायर और डरपोक मानकर इनका तिरस्कार करते है। जिस घर में आत्महत्या हुई होती है उस घर के लोगों में दोष माना जाता है। आत्महत्या करना कानूनन अपराध भी है।

क्या होता है आत्महत्या के बाद आत्मा का – यूँ तो हिन्दू धर्म में लिखा है की आत्महत्या के बाद का जीवन पहले के जीवन की तुलना में ज्यादा कष्टकारी होता है, क्योकि हमारा सिर्फ शरीर मरता है, शरीर के मरने से हमें शारीरिक दुखों से मुक्ति मिल सकती है लेकिन मानसिक तौर पर शांति नहीं मिलती।
आत्महत्या के बाद आत्मा अधर में लटक जाती है ना तो वो स्वर्ग या नरक जा पाती है और ना ही वह जीवन में वापिस आ पाती है। बस हमारे बीच भटकती रहती है ऐसे में वह अतृप्त होती जाती है वह तब तक अपने स्थान पर नहीं जाती जब तक उसका समय नहीं हो जाता है।

आत्मा का यूँ अधर में लटक जाना कोई सजा नहीं होती बल्कि ये अधूरेपन की भावना होती है, मानव जीवन के कुल सात चरण होते है जिन्हें पूरा करने पर स्वतः ही इंसान की मृत्यु हो जाती है ऐसे में प्रक्रिया पूरी होने से पहले ही मृत्यु हो जाने से वो प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाती और जब तक वह पूरी नहीं होती, आत्मा यूँ ही अकेली भटकती रहती है और जीवन में वापिस जाने की लालसा और अपनी ख्वाशिओं के अधुरेपन के दुखों से कष्टों में रहती है।

आत्महत्या करके लोग प्रकृति के विपरीत कदम उठाते है – इंसान की मृत्यु होना स्वाभाविक प्रक्रिया है लेकिन उसका एक निर्धारित समय होता है बस जाने का तरीका अलग अलग होता है लेकिन जो लोग इस नियम के विपरीत जाकर समय से पहले ही अपनी मृत्यु निर्धारित करते है उन्हें भला मुक्ति कैसे मिल सकती है।

ऐसे लोगों की आत्मा फंसी रह जाती है, मान लीजिये किसी व्यक्ति की मृत्यु की उम्र 70 साल है और उसने 40 साल में ही आत्महत्या कर अपने जीवन को समाप्त कर लिया है तो उसकी आत्मा अगले 30 सालों तक अशांत और अतृप्त भटकती रहती है। ऐसे में ये बहुत ही कष्टदायी होता है।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.