महिलाएं सिन्दूर क्यों लगाती है? धार्मिक नहीं वैज्ञानिक तथ्य भी है इसके पीछे

अगर हमें शादीशुदा महिला की पहचान करनी हो तो तो हम सबसे पहले महिला के माथे पर लगा सिन्दूर देखते है अगर सिन्दूर लगा है तो हम तुरंत बता देते है की ये महिला शादी शुदा है।कहते है की महिलाएं सिन्दूर अपने सुहाग की निशानी के तौर पर लगाती है, हो सकता है कुछ महिलाएं ऐसा सोचती हो लेकिन असल में इसका एक वैज्ञानिक तथ्य भी है।

महिलाएं अपने माथे के जिस स्थान पर सिन्दूर लगाती है वो जगह ब्रह्मरन्ध्र और अध्मि नामक कोमल स्थान से ठीक ऊपर की जगह होती है। ऐसा कहा गया है की पुरुषों के अपेक्षा महिलाओं का ये स्थान बहुत कोमल और संवेदनशील होता है और सिन्दूर में मौजूद तत्व इस स्थान से शरीर में प्रवेश कर विद्युत ऊर्जा को नियंत्रित करते है साथ ही बाहरी दुष्प्रभावों से भी बचाते है।

अगर आध्यात्मिक तथ्य की बात की जाये तो ऐसी मान्यता है की जब सीता माता सिन्दूर लगा रही थी तभी हनुमान जी नें उनसे पूछ लिया की वे सिन्दूर क्यों लगा रही है तब सीता माता नें कहा था की सिन्दूर लगाने से पति की उम्र बढ़ती है और पति पत्नी में प्यार बना रहता है बस तभी से औरतों में सिन्दूर लगाने की प्रथा नें जन्म लिया।

You might also like

Leave A Reply