मौत के बाद जिंदा हुए शख्स ने बताया क्या हुआ था उसके साथ, ये कहानी विचलित कर सकती है आपको


हर इंसान के दिमाग में कभी न कभी ये बात जरूर आती है की मरने के बाद इंसान का क्या होता है ? वे कहाँ चला जाता है ? उसे कैसा लगता है ? और कई कहावतें भी है की मरकर लोग सीधे ऊपर चले जाते है, कर्मों के हिसाब से उसे स्वर्ग या नर्क में भेजा जाता है।
एक शोध के अनुसार मरते वक़्त लोगों को तेज़ रौशनी सी दिखाई पड़ती है और कोई साया उन्हें लेने आता है और हाथ पकड़ कर अपने साथ ले जाता है।
अब जानिये सच उन लोगों की जुबानी जो मरकर वापिस जिन्दा हो गए –

यह बात साल 2011 की है, 57 साल का एक शख्स किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित था और उसका अस्पताल में आपरेशन होने वाला था। उसे आपरेशन थिएटर में लाया ही गया था डॉक्टर आपरेशन की तैयारी कर रहे थे इतने में ही शख्स को हार्ट अटैक आ गया, ऑक्सीजन की कमी से उसके दिमाग ने काम करना बंद कर दिया और तकनीकी तौर पर डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अब जानिए इस बीच क्या हुआ
होश में आने के बाद उस शख्स ने जो बातें बताईं, वो बेहद हैरान कर देने वाली थीं. उन्होंने उन सब लोगों का और बातों का ज़िक्र किया जो उन्हें मरने के दौरान दिखे थे। उसमें अस्पताल के कर्मचारी और डॉक्टर्स भी शामिल थे, जिनको उस शख्स ने पहले कभी नहीं देखा था। जो बातें उन्होंने अपनी उस 3 मिनट की मृत्यु के दौरान बताई, सारी सच थीं। अस्पताल के स्टाफ़ ने इस बात की पुष्टि की।मरते टाइम और उसके बाद भी ऑपरेशन थिएटर में क्या चल रहा था। उन्हें सब याद था उन्होंने बताया  कि मेडिकल स्टाफ़ उनको झटके दे रहा था। उन्हें 2 लोगों की आवाज़ें सुनाई दे रही थी। एक मेडिकल स्टाफ़ की जो बार-बार झटका देने की बात कर रहे थे और दूसरी आवाज़ एक महिला की थी जो उनका हाथ पकड़ कर छत के रास्ते उन्हें बाहर ले जाना चाहती थी। उन्होंने  उस महिला की बात सुनी और उनके साथ छत के रास्ते बाहर चले आये।
म्रत्यु होने के बाद उस शख्स को ऐसा लग रहा था कि जो महिला उन्हें वहां से लेकर जा रही थी, वो महिला उन्हें जानती है और वो उस पर भरोसा कर सकते हैं। उन्हें लगा कि जैसे ये महिला किसी कारणवश यहां आई है, लेकिन वो कारण उन्हें नहीं पता था। तभी उस शख्स को एक और झटका लगा और उनकी आंखों के सामने उन्हें नर्स और एक गंजा शख़्स दिखा। मतलब वो फिर से ज़िंदा हो गए थे।
लेकिन वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं की माने तो जब इंसान का दिल धड़कन बंद हो जाता है तो दिमाग तक खून नहीं पहुँचता और दिमाग काम करना बंद कर देता है। ऐसे में तकनीकी तौर पर इंसान की मृत्यु हो जाती है। लेकिन मरकर फिर से जीवित होने की घटनाएं बहुत हुई है और तबसे ही इस पर रिसर्च शुरू हो गयी है।

You might also like

Leave A Reply