राजस्थानी आदमी ने एटीएम से 3500 रूपये की जगह निकाले 70,000 रूपये

नोटबंदी के बाद जहाँ देशभर में लोग एटीएम में कैश ख़त्म होने की शिकायतें कर रहे है वहीँ एक शख्स ऐसा भी है जिसकी किस्मत ऐसी चमकी की उसे 3500 रूपये की जगह एटीएम से 70000 रूपये कैश मिल गए।

राजस्थान के टोंक में रहने वाले जितेश दिवाकर, बैंक ऑफ़ बड़ौदा के एटीएम में रूपये निकालने गए, उन्होंने एटीएम में कार्ड स्वाइप किया और 3500 रूपये डाले, वे सोच ही रहे थे की या तो पैसे निकलेंगे और नही तो एक रसीद निकलेगी जिसमें लिखा होगा, माफ़ी! पर्याप्त कैश नहीं है। लेकिन जो हुआ उसपर उन्हें यकीन ही नही हुआ, एटीएम ने एक ही झटके में बहुत सारा कैश बाहर निकाल दिया, देख दिवाकर हैरान रह गए, उन्होंने नोटों की गिनती की तो ये पूरे 70 हजार रूपये थे।
हालांकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ, इससे पहले भी नोटबंदी के बाद इस तरह की 2-3 किस्से हो चुके है लेकिन वे लोग अपनी किस्मत को सलाम करते हुए घर चले गए थे, लेकिन जितेश को समझ नही आ रहा था की जहाँ एक और नकद की कमी है वही बैंक उन पर इतनी मेहरबानी कैसे कर रहा है। उनकी ईमानदारी कहे या कुछ और लेकिन जितेश ने सीधे ये बाद बैंक मैनेजर को बता दी।
बाद में खुलासा हुआ की नोटों की मिक्सिंग की वजह से ऐसा हुआ, 100 के नोट के स्लॉट में 2000 के नोट डालने की वजह से ऐसा हुआ।

बैंक चीफ मेनेजर ने बताया की उन 2 दो घंटों के दौरान उस एटीएम से अव्यवहारिक घटना हुई जिसमें कुछ लोगों को ज्यादा कैश चला गया लेकिन सिर्फ एक ही शख्स ने इस बात को हम तक पहुंचाया, उन्होंने बताया की 100 के स्लॉट में 2000 के नोट नहीं डाले जा सकते, क्योंकि उसमें लगा सेंसर दूसरे नोट स्वीकार नहीं करता है। यह कोई तकनीकी गडबडी की वजह से हुआ है जिसके लिए टेक्निकल एक्सपर्ट को बुलाया गया है। इस दौरान उस एटीएम को बंद करवा दिया गया है।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.