धीरे धीरे अच्छी होने लगेगी आपकी किस्मत बस ये छोटा सा प्रयोग कीजिये

दरअसल वाकई ऐसे कुछ छोटे छोटे उपाय होते है जिनसे हम अपनी किस्मत को बदल सकते है लेकिन कई लोग इन बातों में विश्वास नही करते और कुछ जानते ही नही है की कौनसे उपाय करने चाहिए।
अगर पूरे विश्वास के साथ बस ये थोड़े से उपाय कर लिए जाये तो निश्चित तौर पर आपकी किस्मत अच्छी हो सकती है –
जग आप सुबह सुबह उठें तो अपनी दोनों हथेलियों को थोड़ी देर तक देखिये और फिर चहरे पर फेरिये।  धर्म ग्रंथों के अनुसार हथेली के ऊपर वाले हिस्से में लक्ष्मी मध्य में सरस्वती और नीचे भगवान विष्णु का स्थान होता है अतः सुबह सुबह दोनों हथेलियों के माध्यम से हम इनका ध्यान कर सकते है।

घर में जब रोटी बनाई जा रही हो तो सबसे पहली रोटी को अलग रख लें उस रोटी को गाय माता को खिलाएं कहते है गाय में सभी देवी देवताओं का निवास होता है आपके ऐसे करने से सभी देवता प्रसन्न रहते है और आपका भाग्य उदय शुरू होता है।

रोज चींटियों को बूरा या चीनी मिला हुआ आटा खिलाएं।  चीटियों को आता खिलाने से आपके द्वारा जाने अनजाने में हुए पाप मिट जाते है और किये गए पाप पुण्य में बदल जाते है।

घर में स्थापित भगवान पर पुष्प चढ़ाएं धर्म ग्रंथों के अनुसार देवी देवता फूल चढ़ाने से अति प्रसन्न होते है और आपका भाग्य चमका देते है।
प्रतिदिन घर में झाड़ू पोंछा हो इसका ध्यान रखें घर को साफ़ सुथरा बनाये रखे लक्ष्मी माँ प्रसन्न रहती है ध्यान रहे शाम के वक़्त झाड़ू पोंछा न करें ऐसा करने से आपको आर्थिक हानि का सामना करना पद सकता है।

मछलियों को आटे की गोलियां बना कर खिलाएं यह माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने का अचूक उपाय है
इसके लिए आस पास ऐसा कोई तालाब या पोंड ढूंढें जहाँ मछलियाँ हो या फिर एक एक्वेरियम घर में ले आएं।

ऐसा माना जाता है की जो व्यक्ति घर से निकलने से पहले माता पिता का आशीर्वाद लेकर निकलता है तो उसकी कुंडली के सभी विपरीत गृह अनुकूल हो जाते है और उसके सारे काम आसानी से बनने लग जाते है।

बाहर से जब भी आप घर में प्रवेश करें तो कभी खाली हाथ न जाएं हमेशा कुछ न कुछ लेकर ही घर में प्रवेश करना चाहिए चाहे वह पेड़ का पत्ता ही क्यों न हो।

प्रतिदिन सुबह पीपल के पेड़ में जल चढ़ाना चाहिए आपको पता है पीपल के पेड़ में विष्णु का वास होता है और भगवन विष्णु प्रसन्न हो गए तो आपकी सभी मनोकामना पूरी हो जाएगी।

For more awesome news, Like us on Facebook

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.