दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदल देते है ये रत्न

आज दुनिया इतनी मॉडर्न हो रही है लेकिन परेशानियां तो सभी को है। और आज भी लोग अपनी परेशानियों का हल ढूंढने पंडितों और ज्योतिषियों के पास जाते है आज भी लोग है जो ग्रहों को भाग्य से जोड़कर देखते है और मानते है की कहीं ना कहीं जीवन की परेशानियों की वजह ग्रहों का अनुकूल ना होना ही है। और जब कुछ रत्न पहनकर परेशानियों से छुटकारा मिल सकता है तो फिर क्यों ना पहने।
मानिए या ना मानिए लेकिन पंडितों के अनुसार रत्नों में वो ताकत होती है जो आपके ग्रहों को अनुकूल बनाती है और आपके भाग्य को सुधार देती है और कई लोगों ने बात को माना भी है। ये रत्न अपनी राशियों के अनुसार पहने जाते है और ग्रहों को ध्यान में रखकर धारण करवाये जाते है।  जानिए किस समस्या के लिए कौनसा रत्न है।
जिन लोगों के शुक्र गृह अनुकूल नहीं होता उन्हें हीरा धारण करने की सलाह देते है ज्योतिषी। इसे पहनने के बाद शुक्र गृह अनुकूल होकर प्रेम में सफलता दिलाता है और जिंदगी खुशहाल बनाता है। हीरा चांदी में पहना जाता है इसे धारण करने का सही समय शुक्रवार को सुबह सात से आठ के बीच होता है और ओम द्राम द्रीं द्रौं  सह शुक्राय नमः का जप करते हुए पहना जा सकता है।
सूर्य के लिए रूबी धारण करवाया जाता है इसे सोने या ताम्बे में पहना जाता है रूबी सिंह राशि का रत्न है।  सूर्य सभी ग्रहों का मुखिया होता है और अनुकूल होने पर मानसिक शांति और स्थिरता प्रदान करता है और बिगड़े काम बनाता है। यह अनामिका ऊँगली में रविवार के दिन धारण करने की सलाह दी जाती है।
मेष और वृश्चिक राशि के लिए शुभ होता है मूंगा, मूंगा मंगल गृह का रत्न है यदि किसी की कुंडली में मंगल अनुकूल नहीं चल रहा हो तो ज्योतिष उसे मूंगा धारण करने की सलाह देते हैं। मूंगा सदैव ताम्बे या सोने में ही पहना जाता है।
नीलम शनि का रत्न है यह नीले कलर का होता है और बहुत महंगा भी आता है बॉलीवुड सुपरस्टार अमिताभ बच्चन इसे धारण करते है अमिताभ के ढलते करियर को नीलम धारण करने के बाद शानदार ऊंचाइयां मिली। यह रत्न कन्या राशि का रत्न है।
जिसकी राशि में गुरु अनुकूल ना हो उसे पुखराज धारण करने की सलाह दी जाती है इसे आध्यात्म से जोड़ा जाता है इसे गुरुवार के दिन धारण करें।
पन्ना – यह बुध गृह को अनुकूल बनाने के लिए पहना जाता है नए नए करियर को या पढाई में तरक्की के लिए पहना जाता है इसे बुधवार को पहना जाता है अगर सोने में पहना जाये तो शुभ फल देता है पन्ना धारण करते वक़्त बुध का ध्यान किया जाता है और ओम ब्रां ब्रीं ब्रोम सह बुद्धाय नमः का जप किया जाता है।
राहु की महादशा के लिए गोमेद धारण किया जाता है।
किसी भी रत्न को धारण करने से पहले ज्योतिष को दिखाया जाता है वह आपकी कुंडली के अनुसार फैसला करता है और सलाह देता है।

You might also like

Leave A Reply