कैसे बनाये हल्दी का दूध, क्या है सही तरीका

हल्दी का दूध पीने के के फायदे हम सभी जानते है आयुर्वेद में तो हल्दी का दूध अमृत समान माना जाता है।  कई बीमारियों और संक्रमण से बचने का यह अचूक घरेलु नुस्खा है।लेकिन अक्सर लोग इस दूध का फायदा नही उठा पाते हैं क्योंकि वे इसे बनाने का सही तरीका  नही जानते है। हल्दी का दूध वजन घटाने से लेकर सर्दी जुकाम, दर्द से लेकर अर्थराइटिस तक की बिमारियों को भगाने का रामबाण इलाज है बस इसका सही इस्तमाल आना चाहिए।  जानिए Gold Milk यानी हल्दी का दूध बनाने का सही तरीका –

अक्सर लोग हल्दी के पाउडर को दूध में मिलकर यह दूध तैयार करते  है पर हल्दी का पाउडर हल्दी स्टिक की तरह उतना प्रभावी नहीं होता है क्योंकि पाउडर में संदूषण की भावना अधिक होती है और हल्दी को पीसकर पाउडर बनाने की प्रक्रिया  उसकी गर्मी पैदा करने की ताकत कम हो जाती है। इसलिए जब भी हल्दी का दूध बनाये, हल्दी के एक इंच लंबे टुकड़े को लें और उसको क्रश  करके इस्तमाल करिए।

फिर थोड़े पेपकोर्न यानी मिर्च के दाने क्रश करें, काली मिर्च की जगह सफ़ेद मिर्च इस्तमाल  करें, सफेदी मिर्च यानी दखनी मिर्च आँखों की रौशनी बढ़ाने का काम करती है।  अब आधा गिलास दूध लें, एक कप पानी लें उसमें आधी चम्मच क्रश हल्दी और मिर्ची मिलाएं और अच्छे से उबाल लें।

इस मिश्रण को करीब 20 मिनट तक उबालें, दूध फिर 1 कप रह जाएगा, इसलिए इसमें पानी मिलाने की सलाह दी जाती है क्योंकि यदि पानी नहीं मिलाया जाए तो दूध बहुत गाढ़ा होकर खीर जैसा बन जाता है जो पीने में आसान नहीं लगता है।

उबालने के बाद इसे छानकर इसमें चीनी या शहद मिला लें और फिर गर्म हल्दी का दूध पी लें।

खांसी से निजात पाने के लिए अगर हल्दी का दूध लें रहे है तो पीने से पहले  उसमें थोड़ा देसी घी मिला लें, घी डालते ही दूध में पिघल जाएगा और आपके गले पर कोट बनाकर खासी से राहत देगा।  हल्दी का दूध पीने के कुछ समय बाद ये अपना असर दिखाना शुरू करता है और अंदरूनी दर्द या परेशानी से राहत देता है।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.