आखिर मिल ही गया लाइलाज बीमारी एड्स का इलाज

लाइलाज कही जाने वाली खतरनाक बीमारी एड्स के कारक एचआईवी वायरस के इंफेक्शन पर रोक लगाने में आखिरकार वैज्ञानिकों को सफलता मिल ही गयी है
ऑस्ट्रेलिया के आसपास के समुन्द्र के पानी में मूंगे या प्रवाल के प्रजाति पायी जाती है। तो इस प्रवाल की प्रजाति में पाया जाने वाला प्रोटीन रिसर्च में एड्स की रोकथाम और इलाज में कारगर पाया गया है।
नेशनल कैंसर इंस्टिट्यूट के प्रोफेसर के नेतृत्व में किये गए इस अध्ययन से ये जानकारिया मिली है।

 अध्ययन के नतीजे को एक्सपेरिमेंटल बायोलॉजी की सैन डिआगो में हुई वार्षिक बैठक में पेश किया गया और उस पर फिर से हुए अध्यन में ये साबित हो गया कि ‘कैनिडैरिन्स’ नाम का प्रोटीन उत्तरी ऑस्ट्रेलिया के तट से एकत्र किए गए मूंगों में पाया गया. और ये एच आई वी की रोकथाम में कारगर साबित होगा।
 नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट में हजारों जैविक अभिलेखों की जांच करने के बाद अनुसंधानकर्ताओं ने अंत में  इस प्रोटीन पर ध्यान केंद्रित किया.

प्रोफेसर ने कहा कि यह प्रोटीन एचआईवी संक्रमण को रोकने में एक ने दवाई की तरह साबित हुआ है यह बिलकुल नए अंदाज में इस काम को करता है। 

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.